A Short Essay On Republic Day In Hindi

गणतन्त्र दिवस पर निबंध Short Essay On Republic Day Of India In Hindi Language

गणतन्त्र का अर्थ है- ऐसा राष्ट्र जिसकी सत्ता जनसाधारण में समाहित हो | यूँ हमारा देश 15 अगस्त 1947 को अंग्रेजो की दासता से आजाद हो गया था लेकिन इस स्वतन्त्रता को वास्तविक अर्थ मिला- 26 जनवरी 1950 को | यह वह तारीख है, जब भारत का संविधान लागू हुआ था | इसी दिन को हम गणतन्त्र दिवस के रुप में मनाते आ रहे हैं | यह हमारा राष्ट्रीय पर्व है | इस दिन प्रत्येक भारतीय, देश की आजादी में अपने प्राणों की आहुति देने वाले शहीदों को याद कर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करता है | गणतन्त्र दिवस की पूर्वसंध्या पर राष्ट्रपति राष्ट्र के नाम संदेश देते हैं, जिसका सीधा प्रसारण रेडियो एंव दूरदर्शन पर किया जाता है | इंडिया गेट, विजय पथ, नई दिल्ली में गणतन्त्र दिवस का समारोह विशेष तौर पर आयोजित किया जाता है | देश के अतिथि के रुप में प्रायः किसी देश के ‘राष्ट्राध्यक्ष’ को आमंत्रित किया जाता है | राष्ट्रपति द्वारा राष्ट्रीय ध्वज फहराने के बाद भव्य झांकी का आयोजन किया जाता है | इंडिया गेट से लेकर विजय पथ तक इसे देखने के लिए लाखों लोगों की भीड़ उमड़ पड़ती है | थल सेना, नौ सेना, वायु सेना एवं अद्धसैनिक बलों की परेड इस समारोह की जान होती है | इसके अतिरिक्त पूरे देश की संस्कृति का आभास कराते हुए प्रायः हर प्रदेश की भव्य एवं खूबसूरत झांकियां लोगों का मन मोह लेती हैं | इस समारोह में देश के लिए अपनी जान की बाजी लगा देने वाले जवानों को विशेष रुप से सम्मानित किया जाता है | देश के कोने-कोने से किसी विशेष मौके पर अपनी सूझ-बूझ एंव वीरता का प्रदर्शन करने वाले बहादुर बच्चों को भी इस दिन राष्ट्रपति द्वारा पुरस्कृत किया जाता है | परेड के अंत में वायु सेना के जहाज आसमान में कलाबाजियां प्रस्तुत कर दर्शकों का मन मोह लेते हैं |

प्रजातन्त्र एंव लोकतन्त्र गणतन्त्र के ही समानार्थी शब्द हैं | प्रजातन्त्र शासन प्रणाली के अनेक लाभ हैं | प्रजातन्त्र शासन में राज्य की अपेक्षा व्यक्ति को अधिक महत्व दिया जाता है | राज्य व्यक्ति के विकास के लिए पूर्ण अवसर प्रदान कराता है | जिस तरह व्यक्ति और समाज को अलग करके दोनों के अस्तित्व की कल्पना नहीं की जा सकती, ठीक उसी प्रकार प्रजातांत्रिक शासन प्रणाली में प्रजा और सरकार को अलग-अलग नहीं देखा जा सकता | प्रजातन्त्र के कई लाभ हैं, तो इससे कई प्रकार की हानियां भी संभव है | प्रजातन्त्र की सफलता के लिए यह आवश्यक है कि जनता शिक्षित हो एंव अपना हित समझती हो | जनता को यह समझना होगा कि आजादी हमें आसानी से नहीं मिली है | इसके लिए हजारों लोगों ने अपने प्राण त्यागे हैं | आजादी मिलने के बाद देश का गणतन्त्र बनना हमारे लिए दोहरी खुशी है | इस दिन का सभी को आदर करना चाहिए | गणतन्त्र दिवस आजादी के शहीदों को याद करने एंव उन्हें श्रद्धांजलि देने में मुख्य भूमिका निभाता है |

इस दिन राष्ट्रपति भवन में अनेक राजकीय समारोह आयोजित किए जाते हैं | विदेशी राजनयिक, वरिष्ठ सम्मानीय जन व पदक विजेता यहां एकत्रित होते हैं | रात्रि को राष्ट्रपति भवन, सचिवालय, इंडिया गेट व अन्य राजकीय कार्यालय रंग-बिरंगी रोशनियों से जगमगा उठते हैं | लालकिले के प्रांगण में हिन्दी एंव उर्दू भाषा में कवि सम्मेलन का आयोजन किया जाता है |

स्कूलों में देशभक्ति एंव सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है | राष्ट्रीय एकता का यह पर्व सभी धर्म के लोगों को मिलजुल कर रहने और भाईचारे का संदेश देता है | हमें देश की स्वतन्त्रता, अखंडता एंव संप्रभुता बनाए रखनी चाहिए | यह नहीं भूलना चाहिए कि हम आज जो आजादी की सांस ले रहे हैं, वह वीर-जवानों की देन है | सरहद पर जवान सर्दी-गर्मी, लू के थपेड़े सहते हुए भी हर पल दुश्मनों पर नजर रखते हैं, तो सिर्फ इसलिए कि हमारा गणतन्त्र सुरक्षित रह सके | हमें भी अपनी स्वतन्त्रता एवं अखंडता बनाए रखने का संकल्प लेते हुए, देश के विकास में हर संभव योगदान देना चाहिए |

Short Hindi Essay on Republic Day

गणतंत्र दिवस पर निबंध

Short Hindi Essay on Republic Day गणतंत्र दिवस पर निबंध

गणतंत्र दिवस हमारे देश का राष्ट्रीय पर्व है। यह 26 JANUARY को मनाया जाता है। 26 JANUARY 1950 को हमारे देश का संविधान लागू किया गया था। यह भारत के तीन राष्ट्रीय अवकाश में से एक है।

गणतंत्र दिवस सारे देश में बहुत उत्साह से मनाया जाता है। खास-तौर पर विद्यालयों में इस दिन विशेष कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है। विद्यार्थियों का उत्साह बढ़ाने के लिए उन्हें पुरुष्कार दिया जाता है। मिठाइयाँ बाँटी जाती हैं।

राजधानी दिल्ली में गणतंत्र दिवस विशेष रूप से मनाया जाता है। 26 JANUARY गणतंत्र दिवस पर राष्ट्रपति द्वारा भारतीय राष्ट्रध्वज को फहराया जाता है। इसके बाद सामूहिक रूप से राष्ट्रगान होता है। इस अवसर पर भव्य परेड का आयोजन किया जाता है। जोकि इंडिया गेट से राष्ट्रपति भवन तक नई दिल्ली में आयोजित की जाती है।

“अमर जवान ज्योति” जोकि सेनिकों का एक स्मारक  इंडिया गेट पर स्थित है, परेड प्रारंभ करते हुए प्रधानमंत्री शहीदों को पुष्पांजलि देते हुये उस पर पुष्पमाला चढ़ाते हैं। इसके बाद शहीद सेनिकों  की स्मृति में दो मिनट का मौन होता है।

परेड में हमारे देश के विभिन राज्यों की प्रदर्शनी भी होती है। जिसमे प्रत्येक राज्य की कला, वेशभूषा इत्यादि का दृश्य प्रस्तुत किया जाता है। जो की भारत की अनेकता में एकता को दर्शाता है दिल्ली में लाल किले पर भारत के प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति का भाषण होता है।

इस दिन हम उन शूरवीरों को याद करते हैं, जिन्होंने देश की आजादी के लिए हँसते- हँसते अपने प्राण अर्पण कर दिए। हमें शपथ लेना चाहिए कि हमारे देश की उन्नति में हम भी अपना योगदान जरुर देंगे। जातपात की दीवारों को तोड़कर आपस में भाईचारे से रहेंगे। हमारे देश को एकता का प्रतीक बनायेंगे।

 

गणतंत्र दिवस पर कविता देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

 

Must Watch

मुझको मेरा देश पसंद है हिंदी कविता 

आज़ादी का आज तिरंगा हिंदी कविता 

Friends अगर आपको ये Post “Short Hindi Essay on Republic Day गणतंत्र दिवस पर निबंध ” पसंद आई हो तो आप इसे Share कर सकते है.

कृपया Comment के माध्यम से हमें बतायें कि आपको ये पोस्ट ‘Short Hindi Essay on Republic Day गणतंत्र दिवस पर निबंध’  कैसी लगी।

 

FOR VISIT MY YOUTUBE CHANNEL

CLICK HERE

 

ये भी जरुर पढ़ें :-

अब्राहम लिंकन का सरल स्वभाव हिंदी कहानी 

रबिन्द्रनाथ टैगोर का देशप्रेम 

चंद्रशेखर आज़ाद की ईमानदारी 

 

 

DoLafz की नयी पोस्ट ईमेल में प्राप्त करने के लिए Sign Up करें

Filed Under: EssayTagged With: Essay on republic day, happy republic day article in Hindi, republic day essay in Hindi, गणतंत्र दिवस निबंध

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *